राजस्थान सरकार के कृषि विभाग द्वारा संचालित कार्यक्रम हैं इसके अंतर्गत राज्य के किसानों को खेती हेतु जल उपलब्ध करवाने और सिंचाई हेतु उपलब्ध सीमित जल को कच्ची नालियों द्वारा खेत तक ले जाने से जल का 20 से 25 प्रतिषत अपव्यय होता है। उसको रोकने पर आधारित इस कार्यक्रम में

*इस जल के अपव्यय को कम करने एवं जल बचत से अधिक क्षेत्र में सिंचाई करने हेतु*

  • सभी श्रेणी के कृषकों को सिंचाई पाईपलाइन पर स्त्रोत से खेत तक पानी ले जाने के लिए एच.डी.पी.ई./पी.वी.सी. पाईप डालने पर
  • कृषकों को उनकी आवश्यकता के अनुरूप सभी प्रकार एवं सभी साईज के पाईपों पर समस्त श्रेणी के कृषको को लागत का 50 प्रतिशत या अधिकतम 15000/- रूपये जो भी कम हो या अधिकतम 25/- रूपये प्रति मीटर की दर से अनुदान सहायता देय होगी ।

_गत वर्ष में 3729 किलोमीटर पाईपलाइन स्थापित करने पर कृषकों को 10.21 करोड़ रूपये की अनुदान सहायता राशि उपलब्ध कराई जा चुकी है ।_

_आने वाले वर्ष  में सिंचाई पाईपलाइन कार्यक्रम हेतु एनएमओओपी योजनान्तर्गत 600 कि0मी0 के भौतिक लक्ष्य तथा 150.00 लाख रूपये का वित्तीय प्रावधान एवं राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन अंतर्गत 4928 कि0मी0 के भौतिक लक्ष्य एवं 1232.00 लाख रूपये का वित्तीय प्रावधान है।_

https://sarkaar.co.in/

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here