राजस्व मंत्री ने पांडु महाराज की स्मृति स्मारक के लिए प्रस्तावित भूमि का किया अवलोकन

0
109

राजस्व अधिकारी अपनी क्षमताओं का सर्वश्रेष्ठ उपयोग कर आमजन को दें राहत

राजस्व मंत्री श्री हरीश चौधरी ने कहा कि राजस्व अधिकारी और कर्मचारी राजस्व विभाग की प्राथमिकताओं के अनुरूप आम आदमी के काम को प्राथमिकता से कर अपनी अलग पहचान बनाए।

श्री चौधरी ने शुक्रवार को बीकानेर के कलेक्ट्रेट सभागार में राजस्व अधिकारियों के साथ बैठक में यह बात कही । उन्होंने कहा कि उपलब्ध सीमित संसाधनों में बेहतरीन परिणाम देना एक बड़ी चुनौती है। इसे स्वीकार करते हुए स्वयं की क्षमताओं पर भरोसा रखें और विभाग के मूल कार्य को गंभीरता से पूरा करें। स्वयं को परिवादी के स्थान पर रख कर फैसले दें और उन्हें राहत दें।

हर जिले की अपनी परिस्थिति है उसके अनुसार सरलीकरण का काम किया जाए। अधिकारी अपने अधीनस्थ कर्मचारियों को दैनिक डायरी मेंटेन करने के लिए प्रेरित करें और एक संस्था के रूप में राजस्व विभाग को आगे बढ़ाने में अहम भूमिका निभाएं।

राजस्व मंत्री ने पूगल, लूणकरणसर और छतरगढ़ तहसील को ऑनलाइन करने का काम जल्द से जल्द पूरा करने के निर्देश दिए। सिवाय चक, गोचर, ओरण के कस्टीडियन के रूप में अधिकारी अपनी जिम्मेदारी निभाएं। उन्होंने कहा कि 1 नवंबर से यह सुनिश्चित हो कि सभी राजस्व अधिकारी नियमित रूप से कोर्ट देखें। 5 साल से पुराने लम्बित प्रकरणों को प्राथमिकता से निस्तारित करते हुए आम लोगों को राहत दें।

श्री चौधरी ने कहा कि वर्तमान आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के समय हमें समस्त कार्रवाई को रेगुलर ऑनलाइन अपडेशन रखने पर विशेष ध्यान देना हैं। मौके पर रास्ते हैं लेकिन रिकॉर्ड में रास्ते नहीं है तो ऎसे मामलों को रिकॉर्ड में इंद्राज करें।

साथ ही मौके पर रास्ता रिकॉर्ड के रास्ते से अलग है तो सर्वे करते हुए ऎसे रिकॉर्ड में जल्द से जल्द सुधार करवाएं जिससे भविष्य में होने वाली पेचिदगियों से बचा जा सके। राजस्व मंत्री ने पूगल तहसील में म्यूटेशन के बकाया प्रकरण शीघ्र निस्तारित करने के निर्देश दिए। मंत्री ने कतरियासर में पटवार घर में चल रहे अस्थाई अस्पताल को तो तत्काल प्रभाव से शिफ्ट करवाने के लिए बीकानेर उपखंड अधिकारी मीनू वर्मा को शीघ्र कार्यवाही करने को कहा।

बैठक में संभागीय आयुक्त श्री बीएल मेहरा ने कहा कि राजस्व मंत्री के निर्देशों की अक्षरशः पालना की जाएगी
उन्होंने कहा कि राजस्व अधिकारी और कर्मचारी गंभीरता से पूरे मनोयोग और निष्ठा से काम करें और आम लोगों की व्यथा को समझते हुए मौके पर जांच कर उचित निर्णय लेते हुए राहत दें। काश्तकार और परिवादियों से शालीनता से बात करें।

राजस्व मंत्री ने पांडु महाराज की स्मृति स्मारक के लिए प्रस्तावित भूमि का किया अवलोकन

राजस्व मंत्री ने कहा कि कोई भी समाज या व्यक्ति तभी आगे बढ़ सकता हैं जब वो अपनी जड़ो से जुड़ा रहे। राजस्व मंत्री चौधरी ने शुक्रवार को गांव रूणिया बड़ा बास में पांडु महाराज की स्मृति स्मारक के लिए प्रस्तावित भूमि के अवलोकन अवसर पर यह बात कही।

श्री चौधरी ने कहा कि बीकानेर में गोदारा कुल के पूजनीय पाण्डु जी महाराज की जन्मस्थली रुणिया बड़ा बास में प्रदेश के कोने कोने से आयें बंधुओं से रूबरू होने का सुअवसर मिला। रूणिया की पवित्र धरा से बीकानेर की जड़ें जुड़ी हुई हैं। आने वाली पीढ़िया भी इस धरा की ऋणी रहेगी।

गोदारा जनपद के 700 गांवों के मुखिया पाण्डुजी महाराज थे एवं राजधानी शेखसर लाधडिया थी। गोदारा परिवार द्वारा पांडु जी महाराज की स्मृति में स्मारक का निर्माण कार्य करवाया जा रहा है, जिसके लिये प्रस्तावित स्थल का उन्होंने अवलोकन भी किया।

आप हमारें द्वारा भेजी गयी सूचना से संतुष्ट हो तो लिकं के द्वारा सरकार से जुड़ सकते हैं :
https://sarkaar.co.in/

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here