ICON

अनुकम्पा नियुक्ति के 36 विभिन्न प्रकरणों में शिथिलता

By Sarkaar 15-Jan-2022
Slide Images

माननीय मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी ने सरकारी कार्मिक की मृत्यु के उपरांत आश्रित द्वारा अनुकम्पा नियुक्ति के लिए आवेदन के 36 विभिन्न प्रकरणों में शिथिलता प्रदान की है। श्री गहलोत जी के इस संवेदनशील निर्णय से मृतक आश्रित इन परिवारों को संबल मिल सकेगा। 

अनुकम्पात्मक नियमों के अन्तर्गत सरकारी कार्मिक की मृत्यु के बाद उसके आश्रित को अनुकम्पा नियुक्ति के लिए 90 दिवस में आवेदन करना होता है। यदि आश्रित नाबालिग हो तो उस स्थिति में बालिग होने के 3 वर्ष के भीतर आवेदन करने का प्रावधान है। 

श्री गहलोत जी ने विलम्ब अवधि से आवेदन के 28, अधिकतम आयु सीमा के 3, विलम्ब अवधि अथवा प्रथम नियुक्ति आदेश की कार्यग्रहण अवधि को बढ़ाने के 2 तथा न्यूनतम आयु सीमा मय विलम्ब अवधि के 3 प्रकरणों में सहानुभूतिपूर्वक विचार करते हुए यह शिथिलता दी है। 

श्री गहलोत जी बीते करीब तीन साल में अनुकम्पा नियुक्ति के 980 प्रकरणों में शिथिलता प्रदान कर आवेदकों को राहत प्रदान कर चुके हैं। इस अवधि में 3411 मृतक आश्रितों को अनुकम्पा नियुक्तियां भी दी गई हैं।

राजस्थान सरकार की महत्वपूर्ण सूचना पाने के लिए सरकार से जुड़े
https://sarkaar.co.in/


About Sarkaar

Sarkaar

https://www.sarkaar.co.in
“सरकार” का मुख्य उद्देश्य डिजिटल संचार को बढ़ावा देना है, और साथ ही साथ राजस्थान सरकार के तमाम कामकाज को आम जन के बीच लेकर जाना है। इसके लिए राज्य स्तर पर एक डिजिटल मंच बनाया जा रहा है। जिसमें प्रदेश के विविध क्षेत्रों के लोग जुड़ सकेंगे, यह मंच राज्य सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं, विकास के कार्यों, सूचनाओं, घोषणाओं और जनहित में आदेशों को राज्य के आमजन तक प्रसारित करेगा।
Comments

lalit kumar soniwal ~ 2022-01-20 01:33:14
मृतक राज्य कर्मचारी के परिवार में सरकारी नौकरी होने पर भी अनुकम्पा नियुक्ति प्रदान करें। क्योंकि उस नौकरी का खामियाजा किसी जरूरतमंद को भुगतना पड़ रहा है। अतः अनुकम्पा नियुक्ति नियम में संशोधन करें।
Leave a Comment