ICON

खनिज तेल से दो वर्ष में प्रदेश को 7 हजार 203 करोड 32 लाख रुपये का राजस्व प्राप्त

By Sarkaar 16-Mar-2021
Slide Images
खान मंत्री श्री प्रमोद जैन भाया ने बताया कि गत दो वर्षों में खनिज तेल से प्रदेश को 7 हजार 203 करोड 32 लाख रुपये का राजस्व प्राप्त हुआ तथा वर्ष 2020-21 में फरवरी तक 1 हजार 653 करोड 85 लाख रुपये का राजस्व अर्जित हुआ है।

खान मंत्री श्री प्रमोद जैन भाया ने बताया कि खान एवं खनिज (विकास एवं विनियमन) अधिनियम, 1957 के तहत खनिज से प्राप्त राजस्व में पेट्रोलियम, गैस संबंधी राजस्व को केन्द्रीय सूची में शामिल किया गया है। उन्होंने कहा कि लेड तथा जिंक को 1956 की उद्योग नीति में सार्वजनिक क्षेत्र के लिए आरक्षित किया गया था। वर्ष 1993 में जिंक लेड सहित 13 खनिजों को निजी क्षेत्र के लिए खोला गया।

खान मंत्री श्री प्रमोद जैन भाया ने बताया कि प्रदेश में एल्युमिनियम (बॉक्साईट) के भण्डार बारां व उदयपुर जिले में तथा लेड-जिंक के भण्डार उदयपुर, राजसमन्द, भीलवाडा, अजमेर, सिरोही, सवाई माधोपुर एवं चित्तौडगढ जिले में है। उन्होंने इन खनिजों के भण्डार की मात्र सहित विवरण तथा इन भण्डारों के आवंटन सम्बन्धी विवरण सदन के पटल पर रखा।

खान मंत्री ने बताया कि खान एवं खनिज (विकास एवं विनियमन) अधिनियम, 1957 की प्रथम अनूसूची के भाग-स में उल्लेखित खनिज लेड एवं जिंक की खनिज रियायतें इस अधिनियम की धारा 5(1) के प्रावधान अनुसार भारतीय नागरिक अथवा कम्पनी अधिनियम, 2013 की धारा 2 के अनुच्छेद (20) के अन्तर्गत परिभाषित कम्पनी को आवंटित की जा सकती है।

राजस्थान सरकार की महत्वपूर्ण सूचना पाने के लिए सरकार से जुड़े :
https://sarkaar.co.in/
About Sarkaar

Sarkaar

https://www.sarkaar.co.in
“सरकार” का मुख्य उद्देश्य डिजिटल संचार को बढ़ावा देना है, और साथ ही साथ राजस्थान सरकार के तमाम कामकाज को आम जन के बीच लेकर जाना है। इसके लिए राज्य स्तर पर एक डिजिटल मंच बनाया जा रहा है। जिसमें प्रदेश के विविध क्षेत्रों के लोग जुड़ सकेंगे, यह मंच राज्य सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं, विकास के कार्यों, सूचनाओं, घोषणाओं और जनहित में आदेशों को राज्य के आमजन तक प्रसारित करेगा।
Comments

Leave a Comment