ICON

कौओें की मृत्यु पर, पशुपालन विभाग ने उठाये एहतियाती कदम

By Sarkaar 06-Mar-2021
Slide Images
राज्य स्तर पर नियन्त्रण कक्ष स्थापित

वर्तमान में कौओें में मृत्यु के कारण जानने के लिये राष्ट्रीय उच्च सुरक्षा पशु रोग संस्थान भोपाल को भेजे गये सैम्पल में कौओें में एवियन इनफ्लूएन्जा से मौत की पुष्टि हुई है।

पशुपालन विभाग के प्रमुख शासन सचिव ने अवगत कराया कि राज्य में एवियन इनफ्लूएन्जा को लेकर विभाग पूरी तरह सतर्क एवं सजग है ओर राज्य में मुर्गीपालन से जुड़ें मुर्गीपालकों को वर्तमान में चिन्तित होने की आवश्यकता नही है।

पशुपालन विभाग द्वारा प्रभावित क्षेत्र में स्थानों को चिन्हि्त कर मृत पक्षियों के शवों का वैज्ञानिक रूप से निस्तारण किया जा रहा है तथा बीमार पक्षियों का उपचार हेतु पशुपालन विभाग एवं वन विभाग की विशेष देखरेख में रखा जा रहा है।

श्री कुंजी लाल मीणा ने बताया कि प्रदेश मे अब तक
• झालावाड मे 100,
• कोटा मे 47,
• बांरा मे 72,
• पाली मे 19,
• जोधपुर मे 07 तथा
• जयपुर जलमहल में 07 सहित कुल 252 कौवो की मौत की सूचना प्राप्त हुई है।

जोधपुर, कोटा, बारां एवं जयपुर में मृत कौओं के शव व अन्य नमूने एवियन इनफ्लूएन्जा संदर्भ प्रयोगशाला, भोपाल को रोग की पुष्टि हेतु भिजवाये गये हैं।

कौओें की मौत होने की सूचना प्राप्त होते ही विभाग द्वारा तुरन्त कार्यवाही करते हुए कोटा और जोधपुर संभाग मे उच्च अधिकारियों द्वारा प्रभावित क्षेत्र का दौरा कर स्थिति का मौका मुआयना किया गया, साथ ही स्थिति अनुसार व्यापक इंतजाम किये जाने हेतु क्षेत्रीय अधिकारियों को निर्देंशित किया गया है।

पशुपालन विभाग के निदेशक डॉ. विरेन्द्र सिंह ने बताया कि स्थिति पर नजर रखने के लिये विभाग द्वारा राज्य स्तर पर नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है, जिसका दूरभाष नंबर 0141-2374617 है। विभाग के स्तर से 30 दिसम्बर 2020 को समस्त जिला अधिकारियों, स्वास्थ्य विभाग, वन विभाग एवं अन्य संबंधित विभागों को तवरित कार्यवाही एवं आपसी समन्वय हेतु निर्देशिका जारी कर दी गई है।

आप हमारें द्वारा भेजी गयी सूचना से संतुष्ट हो तो लिकं के द्वारा सरकार से जुड़ सकते हैं : https://sarkaar.co.in
About Sarkaar

Sarkaar

https://www.sarkaar.co.in
“सरकार” का मुख्य उद्देश्य डिजिटल संचार को बढ़ावा देना है, और साथ ही साथ राजस्थान सरकार के तमाम कामकाज को आम जन के बीच लेकर जाना है। इसके लिए राज्य स्तर पर एक डिजिटल मंच बनाया जा रहा है। जिसमें प्रदेश के विविध क्षेत्रों के लोग जुड़ सकेंगे, यह मंच राज्य सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं, विकास के कार्यों, सूचनाओं, घोषणाओं और जनहित में आदेशों को राज्य के आमजन तक प्रसारित करेगा।
Comments

Ravinder meena ~ 2021-03-26 15:19:43
Hi
Amar Singh Ranawat ~ 2021-03-26 15:19:43
Hi
Leave a Comment