ICON

राजस्थान होम गार्ड स्वंयसेवको की नामांकन प्रकिया 25 अक्टूबर से शुरु

By Sarkaar 20-Oct-2021
Slide Images

गृह रक्षा प्रशिक्षण केन्द्र जयपुर के स्वयंसेवको का नांमांकन 25 अक्टूबर से शुरु किया जाएगा। इनका नामांकन भर्ती स्थान केन्द्रीय प्रशिक्षण सस्थान गृह रक्षा, फतेहपुर बेगस, जयपुर पर किया जावेगा। 

इस संबंध में गृह रक्षा प्रशिक्षण केन्द्र से जारी आदेश में बताया गया कि नांमाकन प्रक्रिया गृह रक्षा मुख्यालय द्वारा नांमाकित किये गये बोर्ड के सदस्यो की देख-रेख में सम्पन्न की जाएगी। जिसमें केन्द्र के समादेष्टा, गृह रक्षा महानिदेशक के प्रतिनिधि एवं जिला अधीक्षक के प्रतिनिधि उपस्थित रहेगे। 

गृह रक्षा प्रशिक्षण केन्द्र के समादेष्टा ने बताया कि इस प्रक्रिया के लिए अभ्यर्थी को मोबाईल पर एसएमएस एवं ई- मेल द्वारा सूचना प्रेषित की जाएगी। इसके बाद अभ्यर्थी दिये गये लिंक पर जाकर अपना प्रवेश पत्र डाउनलोड कर सकते है। उन्होंने बताया कि गृह रक्षा स्वयंसेवको की नामांकन प्रक्रिया 2-3 माह चलेगी, जिसके लिए अलग-अलग जिलों में अभ्यर्थी को अलग-अलग समय पर बुलाया जावेगा। बुलाये जाने वाले संबधित अभ्यर्थी को 10-15 दिवस पूर्व ही एसएमएस एवं ई- मेल द्वारा सूचित किया जाएगा, जिसके पश्चात दिये गयें लिंक अथवा विभागीय वेबसाईट से अपना प्रवेश पत्र डाउनलोड कर सकेगें। समादेष्टा ने बताया कि जिन अभ्यार्थी को एसएमएस एवं ई- मेल द्वारा सूचना प्राप्त नहीं हुई है उनका प्रवेश पत्र डाउनलोड नही होगा।

अभ्यर्थी को निर्धारित समय, दिनांक एवं स्थान पर आवश्यक मूल दस्तावेजों (यथा जिले का मूल-निवास, आय प्रमाण-पत्र, शैक्षणिक प्रमाण-पत्र, विशेष योग्यता प्रमाण-पत्र, जातिप्रमाण-पत्र, चिकित्सा प्रमाण- पत्र, विवाह प्रमाण-पत्र एवं पुलिस सत्यापन प्रमाण-पत्र) सहित उपस्थित होना होगा। इसके साथ ही राज्य सरकार द्वारा जारी कोविड-19 (कोरोना) प्रोटोकॉल के दिशा-निर्देशो की भी पूर्ण पालना करनी होगी। इससे संबंधित आवश्यक अन्य जानकारी कार्यालय के दूरभाष नम्बर 0141-2614771 एवं 0141-2377797 पर प्रातः 8 बजे से साय 6 बजे तक ली जा सकेगी। 

राजस्थान सरकार की  महत्वपूर्ण  सूचना पाने के लिए सरकार से जुड़े
https://sarkaar.co.in/


About Sarkaar

Sarkaar

https://www.sarkaar.co.in
“सरकार” का मुख्य उद्देश्य डिजिटल संचार को बढ़ावा देना है, और साथ ही साथ राजस्थान सरकार के तमाम कामकाज को आम जन के बीच लेकर जाना है। इसके लिए राज्य स्तर पर एक डिजिटल मंच बनाया जा रहा है। जिसमें प्रदेश के विविध क्षेत्रों के लोग जुड़ सकेंगे, यह मंच राज्य सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं, विकास के कार्यों, सूचनाओं, घोषणाओं और जनहित में आदेशों को राज्य के आमजन तक प्रसारित करेगा।
Comments

Leave a Comment